नमस्ते दोस्तों आज हम बात करने वाले हे Top 10 Horror Story in Hindi : हॉरर स्टोरी के बारे मे, तो चलिए जानते है की Top 10 Horror Story in Hindi : हॉरर स्टोरी में।हमारी www.skgktricks.in वेबसाइट का एक ही मकसद है कि हिंदुस्तान के युवाओं को सही जानकारी मिल सके|

Top 10 Horror Story in Hindi : हॉरर स्टोरी

Top Best Horror Story in Hindi : हॉरर स्टोरी,डरावनी (डरावनी कहानियां)



Top 10 Horror Story in Hindi : हॉरर स्टोरी

Top 10 Horror Story in Hindi: अघोरी

Horror Story in Hindi :मेरे चाचा अपने समय में काफी आवारा हुआ करते थे! दिन भर दोस्तों के साथ घुमते रहते थे और रात बारह – एक बजे से पहले वह कभी घर नहीं आते थे! घर वाले उनसे काफी परेशान रहते थे! मगर उनपर समझाने का कोई कोई असर नहीं पड़ता था!

एक रात वह अपने दोस्त के साथ नदी किनारे घूम रहे थे! वहां एक अघोरी बाबा रहते थे! चाचा और उनके दोस्त उन्हें छेड़ने के मकसद से उनके पास बैठ गए! उन्होने पहले तो उनके साथ बैठ के शराब पी फिर इधर उधर की बातें कर के उन्हें परेशान करने लगे! बातों बातों में भूत का विषय छिड गया! चाचा ने बाबा से भूत दिखने को कहा! पहले तो बाबा टालते रहे मगर चाचा अडे रहे तो बाबा राजी हो गए! उन्होंने उनके चारों तरफ एक गोला बनाया और कहा चाहे जो भी हो बाहर मत जाना!

बाबा ने मन्त्र जपना शुरू किया! चाचा और उनके दोस्त उस समय मंद मंद मुस्कुरा रहे थे क्यूंकि उनको ये मजाक लग रहा था! अचानक छम छम की आवाज़ आई और एक औरत वहां आकर नाचने लगी! उसके बाद अचानक दो और औरतें वहां आ गयी और वह भी नाचने लगी! ये देख चाचा और उनके दोस्त की सिट्टी पिट्टी गोल हो गई! दोनों का नशा एक पल में गायब हो गया!

वह दोनों डर के मारे वहां से भागने लगे! मगर नाचती औरतों ने अपना नाच छोड़ उनको घेर लिया और उनके चारों ओर घूमने लगी! वह उनकी तरफ बहुत ही भयानक तरह से देख रही थी, जैसे वह उन्हें वहां बुलाये जाने से नाराज हो! वह दोनों वहीँ पर बेहोश हो गये! सुबह जब होश आया तो वहां सिर्फ अघोरी बाबा ही थे! उन्होंने औरतों के बारे में पूछा तो बाबा ने बताया कि उन्होंने उन्हें भगा दिया!

दोनों ने बाबा के पैर छुये ओर वहां से भाग गये! उस दिन के बाद चाचा ने रात को देर से आना बंद कर दिया!

Top 09 Horror Story in Hindi: सर कटी लाश

Horror Story in Hindi: कहने को तो हम 2010, एक आधुनिक युग में जी रहें हैं! जहाँ सिर्फ विज्ञान की बात होती है! यहाँ भूत प्रेत की बात करना अन्धविश्वास कहलाता है! मैं भी ऐसा ही सोचता था मगर एक हादसे के बाद मेरी सोच थोड़ी बदल गई! जून की गर्मी के कारण सबका जीना मुहाल था! हम सब कुछ दिनों के लिये अपने ननिहाल गए हुए थे!

वहां जहाँ मेरी कुछ अच्छी यादें जुडी हुई थी ! मगर इस बार ऐसा नहीं था! मैंने जो देखा उस पर मुझे विश्वास नहीं हुआ! गाँव में एक कटे सर के आदमी के दिखने की अफवाह थी! पर हम इन बातों पर विश्वास नहीं करते थे! एक दिन दोपहर को मैं नेहर के किनारे बैठा था! गर्मी में ठंडी हवा के झोंकों का अलग ही मजा था! मुझे हलकी हलकी नींद आने लगी थी! तभी कोई मेरे पास आकर बैठ गया और बाते करने लगा!

मैं भी आधी नींद में उससे बाते करने लगा! बातों बातों में उसने मेरा अतीत बता डाला और फिर जब मैने उसे देखा तो मेरी सांस ही रुक गई! उसका सर नहीं था! एक पल में मेरी सारी नींद उड़ गई और वो आदमी भी गायब हो गया! मैं वहां से भाग कर सीधा घर आ गया! उस दिन मेरी तबियत भी ख़राब हो गई! जो मैंने देखा शायद वो मेरा सपना भी हो सकता है क्यूंकि मैं आधी नींद में था! मगर जब भी वो घटना याद आती है मेरी रूह कांप जाती है!

Top 08 Horror Story in Hindi: मानो या ना मानो लेकिन ऐसा भी होता है

Horror Story in Hindi : कहते हैं सिर्फ शैतान के सिर ही सींग होते हैं. पौराणिक कथाओं में हम जितने भी असुरों को देखते या सुनते आए हैं उनकी पहचान लंबे-लंबे सींगों से की जाती रही है. बड़े-बुजुर्गों के मुंह से भी जब किसी दैत्य, असुर या किसी राक्षसी व्यक्तित्व वाले इंसान का जिक्र सुनाई देता है तो भी उनके इस जिक्र में उस व्यक्ति का बाहरी स्वरूप सामान्य ना होकर डरावना ही होता है.

यहां तक कि दादी-नानी की कहानियों, जिसके द्वारा वह छोटे बच्चों को डराती हैं, में भी सींगों वाले राक्षस का जिक्र होता है. अभी तक तो आप इसे सिर्फ मनगढ़ंत कहानी के तौर पर देखते थे लेकिन जरा सोचिए अगर असल में वही शैतान आपके सामने अवतरित हो जाएं तो आप क्या कहेंगे?

जी हां, उन किस्सों कहानियों में जिस सींगों वाले राक्षस का जिक्र होता था वह आज असलियत का रूप लेकर हमारे ही समाज का एक हिस्सा है.

अब आप मानें या ना मानें लेकिन बिहार के सलेमपुर गांव में रहने वाले 96 वर्षीय बुजुर्ग जगदीश कापरी के सिर पर अचानक सींग उगने लगे हैं. उनके सिर उगा सींग स्थायी और जानवर के सिर पर मौजूद सींगों की ही तरह मजबूत है, जिसे देखकर आसपास के लोग यहां तक कि डॉक्टर भी हैरान हैं. डॉक्टरों का कहना है कि उनके मेडिकल कॅरियर में यह अपनी तरह का पहला मामला है.

सुनने में थोड़ा हास्यास्पद लगेगा लेकिन जगदीश के एक रिश्तेदार के अनुसार सर्दियों के समय जब जगदीश ऊनी टोपी पहना करते थे तो उनका सींग उनकी टोपी फाड़कर बाहर आ गया था, तब सभी उसे देखकर बहुत हैरान हुए थे और जब उन्हें डॉक्टर के पास ले जाया गया तो डॉक्टर भी उनके इस सींग के असल होने पर भरोसा नहीं कर पाए.

डॉक्टरों का कहना है कि कई बार मांस के टुकड़े एक साथ जुड़ जाते हैं जिसकी वजह से वह शरीर के किसी अंग से बाहर आने लगते हैं, लेकिन यह पहला मामला है जब शरीर में से सींग निकलने लगे हैं. उनके अनुसार मेडिकल हिस्ट्री में भी ऐसा कोई मामला नहीं आया है. जगदीश की मानें तो सिर के सींग उन्हें परेशान तो नहीं करते लेकिन अचानक से सींग उग जाना उनके लिए बहुत अजीब है, जिसकी वजह से वह सहमे हुए हैं.

जगदीश की उम्र देखते हुए डॉक्टर उनका ऑपरेशन करने से भी कतरा रहे हैं इसीलिए जगदीश भी यह उम्मीद छोड़ चुके हैं.

डॉक्टर जहां इस केस को विज्ञान की दृष्टि से देख रहे हैं वहीं जगदीश के गांव वालों का कुछ और ही कहना है. गांववालों की मानें तो यह उनके पूर्व जन्म से संबंधित हैं. किसी इंसान के शरीर में दैत्य सींगों का उगना सामान्य नहीं है. जरूर इसका वास्ता उनके पूर्व जन्म में किए गए कर्मों से है.

अब यह तो अपनी-अपनी मान्यता पर आधारित है कि हम किसे सच मानते हैं और किसे झूठ. लेकिन जो भी है एक बात तो है कि मामला बहुत गजब का है. Horror Story in Hindi :

Top 07 Horror Story in Hindi : आत्मा से प्यार 

Horror Story in Hindi : मै हिंदुस्तान यूनिलीवर कंपनी में ऑपरेटर का काम करता हु | मेरा घर कंपनी से 10 किमी दूर है | मेरे पास एक बाइक जिससे मै अपना घर से कम्पनी और कम्पनी से घर का सफर पूरा करता हु |

एक दिन ऑफिस से घर जा रहा था तो रास्ते में मुझे मेरे कॉलेज [जिसमें मैंने अपनी ग्रेजुएशन पुरी की थी ] के बाहर एक लडकी दिखाई दी, जो मुझे देखकर मुस्करा रही थी | मैंने उसे टालते हुए मै घर की ओर निकल पड़ा | दुसरे दिन फिर वोही लडकी मुझे उसी जगह पर दिखाई दी | वो भी मुस्करा रही थी और मै भी मुस्कुराता हुआ निकल पड़ा | मूझे उसकी प्यारी से मुस्कान से प्यार हो गया था लेकिन कभी रुकने की कोशिश नहीं की |

वो लडकी कई दिनों तक मुझे दिखी और एक दिन वो मुझे वहा नहीं दिखाई दी | मै बैचैन हो गया लेकिन मै उसके बारे में कुछ नहीं जानता था उअर ना कभी बात की थी इसलिए उसका पता भी नहीं लगा सकता था | मई कई दिनों तक उस लडकी के नहीं दिखने से बैचेन रहा | कई बार तो मै कम्पनी से जल्दी निकलकर उसका इन्तेजार भी करता पर वो मुझे नहीं दिखी |

एक दिन मेरे मोबाइल पर किसी अनजाने नंबर से फ़ोन आया | मैंने फ़ोन उठाया तो एक लडकी बोली | उसने मेरा नाम पूछा और वो मुझसे बात करने लगी और बताया कि मै वही लडकी हु जिसे तुम रोज़ बाइक से गुजरते हुए देखा करते थे | मै अचम्भित रह गया कि इसके पास मेरा नंबर कैसे आया और ये मेरसे क्यों बात कर रही है | लेकिन उसकी मीठी बातो में इतना खो गया कि ये सब बाते भूल गया |

एक दिन उसने मुझे कॉलेज के बाहर मिलने के लिए बुलाया | मै और मेरा दोस्त हम दोनों बाइक पर उससे मिलने को गये क्यूंकि कभी मै लडकी से अकेले नहीं मिला था तो घबरा रहा था | मै और मेरा दोस्त जैसे ही कॉलेज के बाहर पहुचे तो वहा वो लडकी कही पर भी दिखाई नहीं दी | मैंने काफी फ़ोन लगाया लेकिन फ़ोन स्विच ऑफ था |

मै घर लौट गया उर घर में घुसते ही उसका फोन आया तो मैंने गुस्से से कहा कि हम वहा पर आपका इंतजार कर रहे थे आप क्यों नहीं आयी | तो उसने कहा कि “तुम अपने दोस्त को क्यों साथ लेकर आये थे मुझसे अकेले मिलने आना “| मैंने कहा ठीक है |

अगले दिन सुबह सुबह मैंने उसके फ़ोन लगाया लेकिन उसकी मम्मी ने फ़ोन उठा लिया | मै एक बार तो डर गया लेकिन कॉलेज के प्रोजेक्ट का बहाना कर उससे बात करने को उसकी मम्मी से कहा | उसकी मम्मी ने कहा “पागल हो गये हो क्या प्रिया को मरे तो तीन महीने हो चुके है “|

मै हक्का बक्का रह गया और मेरे हाथ से मोबाइल छुट गया और मै बुरी तरह कांपने लगा | मैने सोचा कि जिस लडकी को देख रहा था और जिससे मै बात कर रहा था वो एक आत्मा थी | मुझे फिर भी विश्वास नहीं आया

मैंने अगले दिन फिर प्रिया की मम्मी के फ़ोन लगाकर सारी घटना सुनाई तो उन्होंने कहा “मेरी बात पर यकीन ना हो तो मेरे घर आकर देख लो “| मैं प्रिया के घर गया तो प्रिया के फोटो पर माला लगी थी | उसकी माँ ये घटना सुनकर भावुक गो गयी लेकिन उस दिन से मैंने अपनी वो सिम निकालकर फेंक दी और नए नंबर ले लिए और फिर कभी फोन नहीं आया |

लेकिन आज भी मै अनजान नंबर से अक्सर सहम जाता हु | मित्रो अगर आपको मेरी आप बीती पसंद आये तो शेयर जरुर करे | ये कहानी मै प्रिया को समर्पित करता हु और IGS को धन्यवाद देता हु कि उन्होंने मेरी आप बीती को आप लोगो तक पहुचाया |

06 Horror Story in Hindi : नीली आँखें

Horror Story in Hindi : बात तब की है जब मैं 3 या 4 साल का रहा होऊंगा! उस समय हम गाँव में ही रहते थे! मुझे रोज रात को खिड़की के बाहर एक औरत दिखाई देती थी! उसने सफ़ेद साड़ी पहनी हुई होती थी और उसकी आँखें नीली होती थी! वह मुझे बुलाती थी! मैं बहुत डर जाता था और अपनी माँ को पकड़ कर सो जाता था! कुछ दिनों में हम अपने पिताजी के साथ शहर में रहने लगे! गाँव का घर खाली हो गया! हमारा गाँव जाना भी कम होने लगा!

अब केवल शादी ब्याह में गाँव जाना होता! वह भी केवल मेरे माता पिता ही जाते! मैं अपने गाँव के बारे में लगभग सबकुछ भूल चुका था! रात में दिखने वाली उस औरत को भी मैं सपना समझने लगा था! मेरे चाचा के लडके की शादी थी! मैं करीब 15- 16 साल बाद गाँव गया था!

हमने अपना घर भी साफ़ करवा रखा था! हम अपने घर में ही रुके थे! एक रात अचानक मेरी नींद खुली! मैने खिड़की से बहार देखा तो मुझे वही औरत नज़र आई! उसकी नीली आँखें चमक रही थी और वो मुझे पहले की तरह बुला रही थी मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मेरा बचपन का कोई डरावना सपना सच हो गया हो! मैं काफी डर गया और भगवन को याद करने लगा! मैंने जल्दी से खिड़की बंद कर दी! उस रात मुझे नींद नहीं आई! मैं अगले दिन से अपने घर पर नहीं सोया और उसके बाद से मैं गाँव भी नहीं गया!

05 Horror Story in Hindi : प्रेतों के खेल से काँप उठी मेरी रूह

Horror Story in Hindi : यह घटना आज से 12 साल पहले की है उन दिनों मै बिहार के एक छोटे से गाँव हसनपुर के अस्पताल में कार्यरत था | एक रात अस्पताल में ज्यादा मरीजो की वजह से रात की 12 बज गयी थी | उस रात तेज बारिश हो रही थी | मै भीगते भागते अपने घर पंहुचा | कपड़े गीले हो जाने की वजह से मैं अपने कपडे बदल ही रहा था कि अचानक दरवाज़ा खटखटाने की आवाज आयी | मैंने सोचा “इतनी रात को कौन आया होगा ” |

सुनसान रास्तो से होते हुए वो लडकी मुझे 5 -7 किलोमीटर दूर एक दुसरे गाँव में ले गयी | मैंने सोचा कि ये लडकी इतनी रात को मेरे यहा कैसे पहुची | लेकिन मैंने इन बातो की तरफ ध्यान ना देते हुए एक मकान में पहुचे और वहा उसकी माँ बीमार पलंग पर लेटी थी | मैंने उसकी नब्ज देखी और इंजेक्शन दे दिया और कुछ दवाये लिख दी | उस लडकी ने मुझको बाहर मेरी जीप तक मुझको छोड़ दिया | फिर मै घर पर आ गया |

अगली सुबह मै जब अस्पताल के लिए जाने लगा तो सोचा कि रात वाले मरीज से मिलता जाऊ | थोड़ा सा चक्कर ही पड़ेगा रास्ते में जाने को ये सोचकर मै वहा गाँव में पंहुचा | मै रात को जिस मकान में गया वो उस जगह पर मुझे नहीं दिखा |

मुझे उस जगह पर खंडहर नजर आ रहा था तो मै गाँव के लोगो से पूछने लगा कि यहा एक घर और परिवार रहता है तो लोगो ने हैरानी से देखते हुए कहा कि यहा ऐसा कोई घर नहीं है | ये सुनकर मेरे रोंगटे खड़े हो गए | मैं सोचने लगा कि रात को जो मेरे साथ हुआ वो क्या था | वहा के लोगो ने बताया ये प्रेत लीला है सो हर साल किसी एक इन्सान के साथ होती है| ये तो गनीमत है कि आप जिन्दा बच गए वरना वो आत्मा आपको जिन्दा नहीं छोडती |

मै हालँकि भूत प्रेत में ज्यादा विश्वास नहीं करता था | मै जब गाँव वालो के साथ उस खंडहर में पंहुचा तो उस खंडहर के बाहर मेरी जीप के पहिये के निशान थे और वो इंजेक्शन और दवा भी वही पडी थे | मैंने बिना लोगो से ओर बाते किये फिर से घर लौट आया और घर वालो को सारी बात बताई | उसके कुछ दिनों बाद मेरा तबादला दुसरे गाँव में हो गया लेकिन उस रात की घटना के बारे में सोचकर आज भी मेरी रूह काँप जाती है |

04 Horror Story in Hindi : जब इंसानी दुनिया में प्रवेश कर ले जिन्न

Horror Story in Hindi : धर्म चाहे कोई भी हो लेकिन सच यही है कि भी धर्म अपने-अपने तरीके से पारलौकिक ताकतों में भरोसा करते हैं. ईश्वर, अल्लाह, जीसस आदि को तो सभी मानते हैं लेकिन जिस प्रकार सच्ची और अच्छी ताकतों का घेराव हमारे आसपास है वैसे ही कुछ बुरी ताकतें भी हर समय हमें नुकसान पहुंचाने की फिराक में रहती हैं और हर धर्म में उन्हें अलग-अलग नाम से जाना जाता है. हिंदू धर्म में उन्हें आत्माएं, प्रेत और पिशाच, ईसाई डेविल या स्पिरिट और इस्लाम धर्म में जिन्नों के अस्तित्व को स्वीकार किया गया है.

भूत-प्रेत और आत्माओं के बारे में तो हम आपको कई बार बता चुके हैं लेकिन आज हम आपको जिन्नों के विषय में कुछ विशिष्ट जानकारियां प्रदान करने वाले हैं. इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग जरूर जिन्नों के विषय में बहुत हद तक जानकारी रखते होंगे लेकिन कुछ बातें ऐसी हैं जो सभी को जाननी जरूरी है, जैसे:

1. Horror Story in Hindi : जिन्न शब्द का अर्थ और इनका उद्भव: जिन्न अरबी भाषा से लिया गया शब्द है क्योंकि सबसे पहले जिन्नों के होने का एहसास अरबी देशों में ही हुआ था. इस शब्द का अर्थ अंग्रेजी भाषा के ही एंजेल्स की अवधारणा से मिलता-जुलता है जिसका अर्थ अलौकिक और ना दिखने वाली ताकत है.

कुरान के अनुसार जिन्न का उद्भव हवाओं में से हुआ है, कह सकते हैं कि जिन्न नकारात्मक या सकारात्मक ऊपरी हवाओं से संबंधित है. इस्लाम की मान्यताओं के अनुसार मरने के पश्चात इंसान जिन्न बन जाता है और अपनी किसी इच्छा को पूरी करने के 1000 से 8000 वर्षों बाद दुनिया को छोड़कर चला जाता है.

2. Horror Story in Hindi : जिन्न के प्रकार: जानकारों के अनुसार जिन्न को चार श्रेणियों में बांटा जा सकता है. इन चारो ही तरह के जिन्न खतरनाक तो होते हैं लेकिन अलग-अलग तरीके से वह इंसानी दुनिया को प्रभावित करते हैं.

(क) Horror Story in Hindi : मरीद: जिन्न की सबसे खतरनाक और ताकतवर प्रजाति है मरीद. आपने कई बार इन्हें किस्सों और कहानियों में सुना होगा. लोकप्रिय कहानी अलादीन का चिराग में भी इसी जिन्न को शामिल किया गया था. इन्हें समुद्र या फिर खुले पानी में पाया जा सकता है. यह हवा में उड़ते हुए भी देखे जा सकते हैं.

(ख) Horror Story in Hindi : इफरित: इंसानी दुनिया जैसे ही इफरित जिन्नों की भी दुनिया होती है जिसमें महिला और पुरुष दोनों इफरित साथ रहते हैं. यह इंसानों को समझने की ताकत रखते हैं और बहुत ही जल्द इंसानों को अपना दोस्त बना लेते हैं. इफरित अच्छे भी होते हैं और बुरे भी लेकिन इन पर विश्वास करना घातक सिद्ध हो सकता है.

(ग) Horror Story in Hindi : सिला: सिला प्रजाति में सिर्फ महिला जिन्न ही होती हैं जो देखने में बेहद आकर्षक और खूबसूरत होती हैं. इंसानी दुनिया में विचरण तो करती हैं लेकिन उनसे दूरी भी रखती हैं. सिला ज्यादा मात्रा में देखी नहीं जातीं लेकिन वह मानसिक तौर पर मजबूत और बहुत समझदार होती हैं.

(घ) Horror Story in Hindi : घूल: इंसानी मांस खाने वाली यह प्रजाति बहुत खौफनाक होती हैं. यह कब्रिस्तान के आसपास ही रहते हैं. इनका व्यवहार क्रूर और शैतान से मिलता-जुलता है इसीलिए इंसानों के लिए यह बहुत भयावह होते हैं.

(ङ) Horror Story in Hindi : वेताल: यह वैम्पायर होते हैं, इंसानों के खून पर ही जिंदा रहते हैं. विक्रम वेताल की कहानियों में इसी वेताल का जिक्र था. यह भविष्य देख सकते हैं और जब चाहे भूतकाल में भी जा सकते हैं.

03 Horror Story in Hindi : छलावे का डरावना एहसास

Horror Story in Hindi : मित्रो मेरा नाम जतिन दिवेचा है और मै महाराष्ट्र का रहने वाला हु | आज जो मै आपको किस्सा बताने जा रहा हु वो मेरे पिताजी के साथ घटित हुआ | उस समय मेरे पिताजी नगर परिषद अचलपुर मे नौकरी पर थे। ऊस वक्त ऊनकी ड्युटी परतवाडा से 3 कीमी दुर गौरखेडा के नाके पर लगती थी। गाडी का जमाना ना होने के कारण पिताजी सायकल से आना जाना करते थे ।

रात बेरात की ड्युटी हूआ करती थी। हमारा घर भी गौरखेडा मेँ होने के कारण एक रात पिताजी 1 बजे नाके के लिए निकले। संतरे के बगीचो की थंडक थी। रास्ते पर एक दो लाईटे थी । नाके पर पहूँचे बाद 20-30 मिटर के अंतर पर उन्हें एक बस दिखाई दी |

वो बस वहा नाके पर आकर रुकी और उस बस के ड्राईवर ने कंडक्टर को नीचे उतरकर देखने को कहा कि नाका आया या नहीं | मेरे पिताजी को ये देखकर सुकून मिला कि चलो कोई तो बस आयी | मेरे पिताजी ने देखा कि नाके से कोई आदमी बाहर नहीं आया तो वो खुद ही अंदर चले गए | नाके के अंदर उन्होंने देखा कि अंदर एक आदमी बड़ी गहरी नींद में सो रहा था | मेरे पिताजी ने उसको उठाया और बोला अरे बाहर गाडी आयी है और तुम अंदर आराम से सो रहे हो |

वो आदमी एक बार तो चौंककर बोला कि मैंने तो कोई आवाज़ नहीं सुनाई दी | फिर भी वो मेरे पिताजी के कहने पर बाहर आया तो बाहर कोई बस नहीं थी | मेरे पिताजी तो बुरी तरीके से घबरा गए कि बस एकदम से कैसे गायब हो गयी | वो नाके वाला आदमी जानता था कि मेरे पिताजी ने जो देखा वो छलावा था | नाके वाले ने सिर्फ ये कहा कि गाँव वालो से इसके बारे में पूछ लेना वो सब कुछ तुम्हे बता देंगे |

अगले दिन सुबह मेरे पिताजी ने एक गाँव वाले किसान से पूछा कल रात १ बजे मुझे सवारियों से भरी एक बस दिखाई दी और थोड़ी देर बाद वो गायब हो गयी | तो उस गाँव वाले ने बताया कि आज से 5 साल पहले इसी नाके पर एक बस दुर्घटना हुई थी जिसमे ड्राईवर ,कंडक्टर समेत 20-30 यात्री मारे गए |

तब से अब तक कई लोगो को उस बस समेत ड्राईवर कंडक्टर का छलावा नजर आता है | मेरे पिताजी ये सुनकर काफी घबरा गए | उसके बाद उन्हें वो बस कभी नजर नहीं आयी लेकिन वो आज भी इस किस्से के बारे में हमको बताते है तो हमे बहुत भय महसूस होता है |

Top 02 Horror Story in Hindi : ऑटो में चुड़ैल के साथ

Horror Story in Hindi : मित्रो मेरा नाम हार्दिक है मै गुजरात का रहने वाला हु और पेशे से ग्राफ़िक्स डिज़ाइनर हु | मेरे साथ जो घटना हुई वो मै आपके साथ शेयर करना चाहता हु | दोस्तों एक दिन मेरे बॉस ने मुझे कुछ जरुरी काम से रोक लिया और रात के 1:30 बजे बोला हार्दिक आप को हमारे पेम्पलेट अभी प्रेस पर देने जाना है और दुसरे जो कार्ड्स है उन पर प्रिंटिंग मिस्टेक को चेक करना है रात को 2 बजे में प्रेस जाने के लिए ऑफिस से निकला |

मेने ऑटो वाले को रोककर वहा जाने के लिए कहा | रास्ते में मैंने मोबाइल की टोर्च चालु करके प्रिंटिंग में गलती को चेक करने लग गया | हमारे प्रेस से पहले शिलाज क्रासिंग आया | वहा पर दो औरते खडी थी |

मैंने ध्यान नहीं दिया और अपने काम में लगा रहा | उन औरतो ने ऑटो वाले को को क्रासिंग के पार छोड़ने के लिए बोला | ऑटो वाला मान गया और वो दोनों औरते मेरे बाजू में बैठ गयी | जैसे ही क्रासिंग पास आया उसमे से एक औरत वही उतर गयी | मै इन सब बातो पर ध्यान नहीं दे रहा था | फिर से ऑटो चल पड़ा |

अब उस दुसरी औरत ने मेरे पैर पर उसका पाँव रखा और बोलने लगी भैया आपने उस औरत के पाँव देखे मैंने कहा नहीं क्यू क्या हुआ वो बोलने लगी उसके दोनों पाँव उल्टे थे मै बोला तो उसमे क्या हुआ वो बोली मेरे भी दोनों पाँव उल्टे है उसके पांवो की तरफ देखते ही मै और ड्राईवर दोनों बेहोश हो गये और सुबह 4 बजे जब बेहोशी से उठे तो मेरे दोस्त को फ़ोन करके मुझे ले जाने के लिए बुलाया | उस वाकिये के बाद मै 15 दिन तक बीमार रहा | आज भी वो ऑटो में चुड़ैल की घटना को नहीं भूल पाया.

01 Horror Story in Hindi : डर की रियल कहानी

सोचने लगा कि ऐसा भी कैसे हो सकता है जब घर पहुंचा तो उसके पिताजी ने पूछा कि तुम बहुत ज्यादा घबराए हो गए मुझे ऐसा लग रहा है कि तुम्हें काफी चिंता है तुम मुझे बता सकते हो कि ऐसा क्या हुआ है

जिसकी वजह से तुम परेशान नजर आ रहे हो उसके बाद उस आदमी ने बताया कि मैंने दो भूत की shadow  देखी थी उन्हें बातें करते हुए सुनकर मुझे ऐसा लग रहा था कि वह आदमी है

but वह आदमी नहीं थे वह दोनों ghost थे उन्हें जब से मैंने देखा है बहुत ज्यादा डर लग रहा है और मुझे तो ऐसा लग रहा है कि कहीं मेरे पीछे तो नहीं आ गए हैं

मुझे बचपन से ही ghost की बातों से डर लगता है मैं ghost के बारे में कोई बात नहीं करना चाहता लेकिन आज मैंने जो देखा उसके बाद मुझे यकीन हो गया कि वह सिर्फ किस्से कहानियां नहीं थी बल्कि वह ghost की बातें भी सच होती है

जिन लोगों ने उन्हें देखा होता उसके पिताजी कहने लगे कि तुम्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है

अब तो घर पर आ गए और मुझे नहीं लगता कि वह यहां तक आएंगे इसलिए इस बात को भूल जाओ और जो हुआ है उसके बारे में किसी से भी कहने की जरूरत नहीं है

WACH VIDEO

Conclusion:

तो दोस्तों अगर आपको हमारी Top 10 Horror Story in Hindi : हॉरर स्टोरी यह पोस्ट पसंद आई है तो इसको अपने दोस्तों के साथ FACEBOOK पर SHARE कीजिए और WHATSAPP पर भी SHARE कीजिए और आपको ऐसे ही POST और जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट में आप लिख कर बता सकते हैं उसके ऊपर हम आपको अलग से एक पोस्ट लिखकर दे देंगे दोस्तों

Post a Comment

नया पेज पुराने