पाचन तंत्र को सही रखने के 16 सबसे अच्छें उपाय

पाचन तंत्र को सही रखने का 16 सबसे अच्छा उपाय
 पाचन तंत्र को मजबूत कैसे करें 

पाचन तंत्र मजबूत करने के उपाय

  1. सोने के पहले भारी भोजन ना करे ताकि पेट का एसिड खाने की नली में ना आए और आपका वजन भी न बढे .  
  2. ☕भोजन के तुरंत पश्चात चाय या कॉफी लेने से परहेज करें क्योँकि ये भोजन से लौह तत्व लेने में बाधा उत्पन्न करते है | 
  3. सुबह जागने के बाद गुनगुना पानी पीना आंत के सिरे की सफाई,नए खून के निर्माण, वजन में कमी और त्वचा को चमक देने में सहायता करता है | 
  4. भोजन के 30 मिनट पहले जल पीना,पाचन में और वजन कम करने में सहायक होता है | 
  5. पाचन तंत्र के स्वास्थ्य के लिए फलों का रस पीना,फलों को काटकर खाने से कम फायदेमंद है, क्योंकि रस में रेशे की मात्रा कम होती है और छिलका बिलकुल नहीं होता है | 
  6. भोजन के तुरंत पश्चात लेटें या सोयें नहीं, क्योंकि आपके पेट में उपस्थित एसिड आसानी से आपकी खाने की नली में पहुँच कर सीने की जलन उत्पन्न कर सकता है |
  7. भोजन के पश्चात आधा घंटे तक सीधे बैठना बेहतर होगा, ताकि पाचक रस भोजन को छोटे हिस्सों में बाँट सकें |
  8. निगलने के पहले अपने भोजन को जितना चबा सकें, उतना चबाएं,क्योंकि आपका मुहँ शक्तिशाली पाचक रस उत्पन्न करता है |  
  9. शरीर में जल की  प्रयाप्त मात्रा आपके अंगों का उचित प्रकार से कार्य करना निश्चित करती है, मेटाबोल्जिम को सुधारती है, आपकी चर्बी की अधिक मात्रा को जलाने में सहायता देती है | 
  10. ☕चाय और कॉफी शरीर में एसिड को बढ़ाते है , इनके सेवन के पहले एक गिलास जल का सेवन करना नुकसान को कम करता है | 
  11. अदरक का प्रयोग सर्दी को रोकने,गति सम्बन्धी परेशानी को दूर करने, अपच हटाने में किया जाता है और यह उल्टी और गले की पीड़ा की घरेलू औषधि भी है | 
  12. गुनगुना पानी और नींबू का शरबत पीना आपके शरीर से विषैले प्रदार्थों को बाहर निकालता है, यह आपके पाचन तंत्र को साफ़ करने में भी मदद करता है जिसके कारण आम पाचन समस्याएँ जैसे अपच और कब्ज दूर होते है | 
  13. केले आपकी आँतों को स्वस्थ रखने में,ह्रदय की लय बनाए रखने वाले पोषक तत्व प्रदान करने में और नेत्र - स्वास्थ्य हेतु आवश्यक विटामिन देने में मदद करता  है |  
  14. अदरक सभी प्रकार की पाचन सम्बन्धी समस्याओं को ठीक करने का अद्भुत घरेलु उपचार है, यह भोजन पचाने के लिए आवश्यक पाचक रसों और एंजाइम के प्रवाह को उत्प्रेरित करती है | 
  15. मेथीदाने और दही का सम्मिलित प्रभाव आपके पेटदर्द और उलटी से तुरंत छुटकारा देगा, आपको केवल मेथीदाने निगलना है, उन्हें चबाना नहीं है |
  16. सौंफ के दाने अपच, पेट फूलना,कब्ज और इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम जैसी पीड़ाओं के उपचार में उपयोगी होते है क्योंकि ये पाचन तंत्र में मांसपेशियों की सुगम गति को प्रोत्साहित करते है |   

Post a Comment

नया पेज पुराने