Dams in madhya pradesh 

 मध्यप्रदेश के बांध

Mp dam list in hindi



मध्यप्रदेश की नदियों पर बने बांध - ( Mp gk Trick Hindi)

हेलो दोस्तों आज हम इस पोस्ट पढ़ेगें की मध्य प्रदेश की नदियों पर कौन कौन से बांध बना है और उन्हें हम ट्रिक से भी याद रखें। लेकिन उससे पहले हम ये जान लेते हैं की बांध किसे कहते है और बांध बनाने से लाभ और हानि क्या है?

बांध किसे कहते  है -( What is Dam ?)


बांध नदी पर जल के प्रवाह को रोकने का एक अवरोध है और इसको कई उद्देश्यों के लिए उपयोग किया जाता है। मुख्य बांधों के उदहारण कुछ इस प्रकार से है - भाखड़ा बांध, सरदार सरोवर, तिहारी बांध इत्यादि। बांध में इसके पीछे के पानी के भार को वहन करने की क्षमता अतिआवश्यक होती है। बांध पर धकेले जाने वाली जल की मात्रा को जल-दाब कहते हैं।

बांधों के फायदे (Advantage of dam)


  • पेयजल और औद्योगिक उपयोग के लिए जल
  • सिंचाई
  • बाढ़ को नियंत्रित करने के लिए
  • जल से विद्युत का उत्पादन  करने के लिए
  • अन्‍तर्देशीय नौपरिवहन के लिए
  • मनोरंजन के  लिए

बांध से हानि या नुकसान   - (Disadvantages of Dams) 


नदियों (Rivers) पर बाँध बनाना विकास का सूचक माना जाता है. बाँध (Dam) बनाकार नदी के जल को एक जलाशय में एकत्र करके उससे जलविद्युत बनायी जाती है और नहरें बनाकर सिंचाई के लिए खेतों को पानी उपलब्ध कराया जाता है तथा साथ ही बहुत सी परियोजना चलाई जाती है लेकिन प्रत्येक परियोजना से समाज एवं पर्यावरण पर कुछ दुष्प्रभाव पड़ते हैं जैसे -


  • बालू का अभाव (कमी ) 


बाँध निर्माण से एक तालाब बन जाता है. पीछे से आने वाली बालू तालाब में जमा हो जाती है जिससे बाँध के नीचे अगल बगल क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को बालू नहीं मिल पाती है|


  • पानी की गुणवत्ता में कमी


बहाव बंद होने से पानी सड़ने लगता है उसकी ताजगी ख़त्म हो जाती है | इस प्रभाव का प्रत्यक्ष उदाहरण उत्तराखंड के श्रीनगर में बनें बाँध के नीचे पानी सड़ने लगा है जिस कारण प्रसिद्ध किल्किलेस्वर मन्दिर में शिवलिंग में श्रद्धालु शुद्ध गंगा जल नहीं चढ़ा पा रहे हैं. बाँध के नीचे श्रीकोट के लोगों को गंदा पानी इस्तेमाल करना पड़ रहा है जिस से पीलिया जैसी बिमारी बढ़ रही है|


  • मीथेन उत्सर्जन


बाँध बनाने से बांध  के जलाशयों में पत्ते, टहनियां और जानवरों की लाशें नीचे जमती हैं और सड़ने लगती है. तालाब के नीचे इन्हें ऑक्सीजन नहीं मिलती है जिस कारण मीथेन गैस बनती है जो कार्बन डाई ऑक्साइड से ज्यादा ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ाती है|



  • वनों का डूबना

बांध बनाने से वन तालाब में डूब जाते हैं जिससे इन वनों से मिलने वाली चरान और चुगान से लोग वंचित हो जाते हैं|

  • जैव विविधता

बांधों  के कारण पानी रुकने से मछलियों की कई प्रजाति समाप्त हो जाती है जिससे जलीय जैव विविधता को नुकसान होता है|

  • मलेरिया के कीटाणुओं की वृद्धि

बांध बनने के कारण  जलाशयों में रुके पानी में मलेरिया की कीटाणु पनपते हैं. जो जलाशयों के नजदीकी क्षेत्र में रह रहे लोगों की बीमारियाँ बढ़ाते हैं |

  • मुक्त बहते पानी के सौन्दर्य की कमी

दुनिया के लोग गंगा के दर्शन करने के लिए आते हैं लेकिन बहती गंगा के स्थान पर इन्हें तालाब दिखते हैं जिससे इन्हें ख़ुशी से वंचित होना पड़ता है |


 तो दोस्तों आशा करता हूँ कि आपने जान लिया होगा की  बांध किसे कहते और बांध बनने से क्या लाभ और हानि है | चलिए अब हम जान लेते है की मध्यप्रदेश की नदियों पर कौन - कौन से बांध बने है 
मध्यप्रदेश की नदियों पर बने मुख्य बांध एवं परियोजनाओं को ट्रिक के साथ याद करे

मध्यप्रदेश के बांध  - Mp Dam gk Trick Hindi

1.नर्मदा नदी पर बने बांध एवं परियोजना

  • Trick – नई रानी इंदिरा ओसम

  • नई – नर्मदा नदी
  • रानी – रानी अवन्ती बाई सागर
  • इंदिरा – इंदिरा सागर
  • ओ – ओंकारेश्वर परियोजना
  • स – सरदार सरोवर परियोजना
  • म – महेश्वर परियोजना

2.  चम्बल नदी बने पर बांध एवं परियोजना

  • TRICK – चार को गरज
  • को – कोटा बैराज
  • ग – गांधी सागर
  • र – राणा प्रताप सागर
  • ज – जवाहर सागर

3.तवा नदी पर बने बाँध

  •  तवा नदी पर 1 ही बांध बना है और वो है -तवा बांध

4. बरना नदी  पर बने बाँध

  •  इस नदी पर बरना घाटी परियोजना है ।

5. हलाली नदी पर परियोजना 

  • इस नदी पर हलाली परियोजना है ।

6. बेतवा नदी पर बना बांध

  • Trick – बेराज
  • राज – राजघाट बांध

7. सोन नदी पर बना बांध

  • सोन नदी पर एक ही बांध बना है वो है -   बाणसागर बांध

Post a Comment

नया पेज पुराने