भारतीय इतिहास 

वैदिक सभ्यता महत्वपूर्ण जीके प्रश्न -उत्तर  - Vedic Sabhyta ke Question Answer



vedic sabhyta



1.भारतीय पटल पर आर्य लोग ...... के बीच उभरे ?

(A) 300 -2500 ईसा .पू .
(B) 2500-2000 ईसा .पू .   
(C) 300- 250 ईसा .पू . 
(D) 1500 - 1000 ईसा .पू 
(E)  इनमे से कोई नहीं 
उत्तर -  (*)

विस्तार से -
भारत में आर्यों का आगमन १५०० ईसा .पू  में हुआ | ये भारत में आकर सप्त सैन्धव प्रदेश में बस गये | उत्तर वैदिक काल में  इनका  विस्तार  गंगा नदी के क्षेत्र तक हो गया था | इस लिए इसका उत्तर इनमे से कोई नहीं होगा | 

2.आर्य कब भारत आये थे ? 
(A) 2500-1800 BC 
(B) 2000- 1500 BC
(C) 2000 BC 
(D) 1500 – 1000 BC
उत्तर – (D)

3.आर्य लोग भारत में कहा से आये थे ? 
1. पूर्वी यूरोप 
2. आस्ट्रेलिया 
3. मध्य एशिया 
4. दक्षिण –पूर्व एशिया 
उत्तर – मध्य एशिया 
विस्तार से - 
भारत में का आगमन एक विवाद प्रश्न है | सर्वाधिक मान्य मैक्समूलर के मतानुसार आर्य मध्य एशिया है | 

इसे भी पढ़े -- वैदिक सभ्यता विस्तार से 

4.आर्य भारत में किस रूप में आये थे ? 
1. सौदागर तथा खानादोश 
2. शरणार्थी 
3. आक्रमणकारी 
4. अप्रवासी 
उत्तर – आक्रमणकारी 
5.निम्नलिखित में कौन सा वेद  सबसे प्रचीन है ? 
1. सामवेद 
2. यजुर्वेद
3. अर्थववेद
4. ऋग्वेद

उत्तर - ऋग्वेद
ऋग्वेद को विश्व का सबसे प्राचीन ग्रन्थ माना जाता है | इसकी रचना 1500 ई. सा. पूर्व से 1000 ई.सा.पूर्व के बीच हुई थी | बाद में उत्तर वैदिक कल में सामवेद,यजुर्वेद, अर्थववेद की रचना हुई |

6.ऋग्वैदिक आर्य किस भाषा का प्रयोग करते थे ? 
1. संस्कृत 
2. द्रविड़
3. पाली 
4. प्राक्रत 
उत्तर – संस्कृत
विस्तार से -
ऋग्वैदिक आर्यों की प्रमुख भाषा संस्कृत थी | ऋग्वैदिक ग्रन्थ मुख्य रूप से संस्कृत भाषा में लिखे जाते थे 

7.ऋग्वेद में सबसे पवित्र नदी कौन सी है ? 
1. सरस्वती 
2. गंगा 
3. यमुना 
4. सिन्धु
उत्तर – सरस्वती
विस्तार से -
ऋग्वेद में वर्णित सबसे प्राचीन पवित्र नदी सरस्वती थी | इसे नदियों में श्रेष्ठ एवं नदियों की माता (सिन्धु माता ) कहा गया है | आर्यों की सबसे प्रमुख नदी सिन्धु नदी थी, जिसका ऋग्वेद में सर्वाधिक बार वर्णन है | 

8.शास्त्रीय संगीत सिधांत की विवेचना की गई है ?
1. ऋग्वेद में 
2. अर्थव वेद में 
3. यजुर्वेद में 
4. सामवेद में 
उत्तर – सामवेद में 
विस्तार से -
भारतीय शास्त्रीय संगीत के सिधांत की विवेचना सामवेद में की गई है| इसमें अधिकांश मंत्र ऋग्वेद से ही लिए गये है  और इनका उच्चारण विशेष प्रकार की पूजा में गाये जाते है | 
9.जादू टोने  का अध्यन किस वेद  में किया जाता है ?
1. अर्थववेद 
2. सामवेद
3. यजुर्वेद
4. ऋग्वेद
उत्त्तर  - अर्थववेद 

10.वैदिक युग के लोगो द्वारा सर्वप्रथम किस धातु का प्रयोग किया गया ?
1. लोहा
2. सोना
3. चांदी
4. तांबा
उत्तर – तांबा
विस्तार से -
वैदिक काल में सर्प्रथम तांबा धातु का प्रयोग किया गया तथा उत्तर वैदिक काल में तांबे के अतरिक्त चांदी, सोना एवं लोहा अदि धातु का प्रयोग होने लगा | 

11.ब्राम्हणवाद जिसे की आज एक श्रेष्ठ वर्ग में समझा जाता है, की जड़े  थी ?
1. ऋग्वैदिक काल में 
2. गुप्तकाल में 
3. उत्तर –वैदिक काल में 
4. ईसा युग की आरंभिक शाताप्दियो में 
उत्तर -  ईसा युग की आरंभिक शाताप्दियों में 
विस्तार से -
उत्तर वैदिक काल में वर्ण व्यवस्था के कठोर न होने के कारण इस समय इसकी जड़े नहीं पनप पाई  थी | वर्तमान ब्राम्हणवाद का रूप स्म्रति काल (200 ई.पू. – 200 ई.) में ही स्पस्ट होता है | 

12.प्राचीन हिन्दू विधि का लेखक किसे कहा जाता है ? 
1. वाल्मीकि को 
2. वशिष्ठ को
3. मनु को
4. पाणिनि को 
उत्तर – मनु को 
विस्तार से -
प्राचीन हिंदू विधि का लेखक मनु को कहा जाता है, जिनकी मनुस्म्रती हिन्दू विधि का प्राचीनतम श्रोत माना जाता है |

13.हिन्दू विधि पर एक पुस्तक मिताक्षरा किसने लिखी ?
1. नय्धन्द्र ने 
2. अमोघवर्ष
3. विज्ञानेश्वर
4. कंबन
उत्तर – विज्ञानेश्वर

14.वैदिक युग में .............?
1. बहुविवाह प्रथा अज्ञात थी 
2. बाल विवाह प्रमुख था 
3. विधवा पुनः विवाह कर सकती थी
4. अनुलोम विवाह स्वीकृत था 
उत्तर – अनुलोम विवाह स्वीकृत था 
विस्तार से -
अनुलोम विवाह में उच्च वर्ण का पुरुष कनिष्ठ वर्ण की स्त्री से विवाह करता था | वैदिक युग के आरंभ में वर्ण व्यस्था ज्यादा कठोर नहीं थी | इसी कारण समाज में अनुलोम विवाह स्वीकृत था |

15.स्कन्द पुराण में गढ़वाल को किस नाम से जाना जाता है ? 
1. केदारखंड
2. कुर्माचल
3. जांलधर
4. गढ़देश
उत्तर – केदारखंड
विस्तार से -
स्कन्द पुराण में गढ़वाल को केदारखंड और कुमाऊँ को मानसखंड कहा गया है | समस्त प्राचीन साहित्य में गढ़वाल – कुमाऊ को सम्मिलित रूप से उत्तराखंड कहा गया है | 

16.शब्द निष्क का अर्थ वैदिक काल में आभूषण था, जिसका अर्थ बाद  में प्रयोग हुआ निम्न रूप में है ? 
1. शास्त्र 
2. क्रषि के उपकरण 
3. लिपि 
4. सिक्का
उत्तर – सिक्का 
विस्तार से -
निस्क शब्द का प्रयोग प्राम्भिक रूप से वैदिक काल में हार जैसे किसी स्वर्णभूषण के लिए होता था | बाद में इसका प्रयोग सिक्का के सन्दर्भ में किया जाने लगा | 

17.शक पंचाग का प्रथम मास होता है ? 
1. चैत्र 
2. वैशाख
3. माघ
4. कार्तिक
उत्तर – चैत्र
विस्तार से -
शक पंचाग का प्रथम मास चैत्र होता है | इसके बाद क्रमश: वैशाख, ज्येष्ठ,अषाढ़, श्रावण, (सावन) भाद्रपद, अश्विनी, कार्तिक, मार्गशीष, पौष, माघ व फाल्गुन महीने आते है | 

18.शक सवंत पर आधारित राष्टीय पंचाग का अंतिम महिना होता है ? 
1. चैत्र 
2. माघ 
3. पौष
4. फाल्गुन
उत्तर – फाल्गुन 

19.ऋग्वेद में वर्णित देवताओ में सबसे प्रमुख देवता कौन थे ? 
1. इंद्र
2. विष्णु
3. सूर्य
4. ब्रम्हा 
उत्तर – इंद्र
विस्तार से -
ऋग्वेद का प्रमुख देवता इंद्र को माना गया है | इंद्र को विश्व का स्वामी कहा गया है | उन्हें पुरंदर की संज्ञा दी  गई है | ऋग्वेद के करीब 250 सूक्तो में इंद्र का वर्णन है | 

20.किस देवता के लिए ऋग्वेद में पुरंदर शब्द का प्रयोग किया गया ?
1. इंद्र
2. अग्नि
3. वरूण
4. सोम
उत्तर – इंद्र

21.वैदिक देवता इंद्र भगवन थे ? 
1. पवन के 
2. शाश्वत के 
3. वर्षा एवं व्रज के 
4. अग्नि के 
उत्तर – वर्षा एवं व्रज  के 
विस्तार से -
वैदिक देवता इंद्र को वर्षा का देवता कहा गया है जिनका प्रिय अस्त्र वज्र था | 

22.ऋग्वेद का प्रमुख देवत्व कौन है ? 
1. मारूत
2. अग्नि
3. शक्ति 
4. वरूण 
उत्तर –  अग्नि
विस्तार से -
ऋग्वेद का प्रमुख देवता अग्नि है जिसके लिए ऋग्वेद में 200 श्लोक है | हलाकि सर्वाधिक प्रमुख देवता इंद्र है जिसके बारे में कुल 250 श्लोक है किन्तु उपरोक्त विकल्पों में इंद्र न होने के कारण सही उत्तर अग्नि होगा |



23.भारत के प्रतीक चिन्ह की आधारित पर अंकित शब्द सत्यमेव जयते किससे लिए गए है ?
1. ऋग्वेद से
2. शतपथ ब्राम्हण से 
3. रामायण से
4. मुण्डकोपनिसद 
उत्तर – मुण्डकोपनिसद  

24.पुराणों  की कुल संख्या कितनी है ? 
1. २०
2. 16
3. १४
4. १८
उत्तर – १८ 
विस्तार से -
पुराणों की संख्या 18 है इनके रचियता लोमहर्ष या उनके पुत्र उग्रश्रवा माने जाते है | 

25.गायत्री मन्त्र का सर्वप्रथम उल्लेख कहा मिलता है ? 
1. ऋग्वेद में 
2. अर्थववेद
3. उपनिषद
4. पुराणों में 
उत्तर – ऋग्वेद में 
विस्तार से -
ऋग्वेद में गायत्री मन्त्र का सर्वप्रथम उल्लेख ऋग्वेद के तृतीय मंडल में मिलता है जिसकी रचना विश्वामित्र ने की है | 

26.वैदिक धर्म  का मुख्य लक्षण इनमे से किसकी उपासना थी ? 
1. प्रकति 
2. पशुपति
3. देवी माता
4. त्रिमूर्ति 
उत्तर – प्रक्रति 
27.ऋग्वैदिक काल से पूर्व आर्यों का मुख्य व्यवसाय क्या  था ? 
1. शिल्पकारी 
2. पशुपालन
3. खेती
4. व्यापार
उत्तर – पशुपालन 
विस्तार से -
ऋग्वैदिक काल से आर्यों का मुख्य व्यवसाय पशुपालन था | ऋग्वेद में पशु धन एवं गाय पर विशेष चर्चा की गई है | क्रषि का उल्लेख केवल 24 बार हुआ | बाद में उतर वैदिक काल में क्रषि आर्यों का मुख्य व्यवसाय हो गया | 

28.वैदिक साहित्य में प्रयुक्त ब्रिही शब्द का अर्थ है ? 
1. जौ 
2. तिल 
3. गेंहू
4. चावल
उत्तर – चावल 
विस्तार से -
वैदिक शब्द में ब्रिही एवं तंदुल का अर्थ चावल से है | गेंहू के लिए गोधूम शब्द का प्रयोग किया गया है | 
29.पाणिनि किस विषय के प्रशिद्ध विद्वान थे ? 
1. भाषा और व्याकरण 
2. आर्युवेद
3. खगोल विज्ञान
4. जीव विज्ञान
उत्तर – भाषा और व्याकरण 
विस्तार से -
पाणिनि सातवी सताब्दी ई.पू. में संस्कृत व्याकरण के विद्वान थे | उन्होंने संस्कृत व्याकरण की पुस्तक अष्टाध्यायी की रचना की थी|


Post a Comment

नया पेज पुराने